Micromax, Lava, Intex, Karbonn जैसे इंडियन ब्रांड्स वापसी को तैयार

Micromax,, लावा, कार्बन, इंटेक्स जैसे इंडियन ब्रांड्स वापसी को तैयार: देश में चीनी प्रॉडक्ट्स बॉयकॉट करने की मुहिम तेज हो रही है। सरकार ने भी अब 300 से ज्यादा चीनी प्रॉडक्ट्स पर इम्पोर्ट ड्यूटी बढ़ाने की योजना बनाई है। ऐसे में कई भारतीय कंपनियां एक बार फिर वापसी की तैयारी कर रही हैं। सरकार भी अब लोकल प्रॉडक्ट्स को बढ़ावा देने के लिए नई योजना बना रही है।

माइक्रोमैक्स वापसी को तैयार

 एक ट्विटर यूजर के जवाब में Micromax, ने ट्वीट किया कि वह जल्द ही कुछ लेकर आ रही है। #VocalForLocal को आपके समर्थन देखने से खुशी है। हम कड़ी मेहनत कर रहे हैं और जल्द ही कुछ बड़ा लेकर आएंगे। कंपनी ने ये भी बताया कि वो भारत में तीन नए स्मार्टफोन लॉन्च करने की योजना बना रही है, जिसमें प्रीमियम फीचर्स और मॉडर्न लुक वाले बजट फोन भी शामिल हैं।

लावा भी वापसी को तैयार

भारतीय बाजार में Micromax, के साथ दूसरी कंपनियां भी फिर से वापसी की योजना बना रही हैं। लावा इंटरनेशनल के प्रोडक्ट हेड तेजेंदर सिंह ने बताया कि कंपनी आने वाले दिनों में न्यू लॉन्चिंग के लिए तैयार है। उन्होंने कहा, “हम इस समय स्मार्टफोन के साथ फीचर फोन के लिए भी पोर्टफोलियो को फिर से तैयार कर रहे हैं। अगले कुछ महीनों में हम अपने पोर्टफोलियो से हर भारतीय की जरूरतों को पूरा करेंगे।”

कार्बन और इंटेक्स भी लौटेंगी

एक भारतीय स्मार्टफोन ब्रांड से जुड़े अधिकारी के अनुसार, इस उद्योग से जुड़ी भारत की लगभग सभी कंपनियां लॉन्चिंग की योजना बना रही हैं। अधिकारी ने कहा कि आने वाले महीनों में कार्बन और इंटेक्स जैसे ब्रांड्स भी नए स्मार्टफोन लॉन्च करना चाहते हैं। कार्बन मोबाइल के कार्यकारी निदेशक शशिन देवसरे ने बताया कि कंपनी एंट्री और मिड-लेवल स्मार्टफोन पर काम कर रही है।

सरकारी योजना से लाभ होगा

इस मामले में एक अधिकारी ने बताया कि चीन विरोधी भावनाओं का लाभ उठाने के लिए ये केवल एक संयोग है, क्योंकि ये सब योजनाएं कुछ समय के लिए ही काम करती हैं। भारत सरकार ने हाल ही में इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने के लिए तीन नई योजनाओं की घोषणा की है, और कहा कि प्रोडक्शन-लिंक्ड इंसेंटिव (पीएलआई) योजना के लिए पांच ‘इंडियन कैम्पेन’ को चुनेगी।

लावा के सिंह ने कहा कि सरकार के प्रोत्साहन के साथ, विशेष रूप से पीएलआई योजना में हम डिजाइन पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं और स्मार्टफोन में ज्यादा निवेश की उम्मीद कर रहे है। हमें उम्मीद है कि हम स्मार्टफोन और फीचर फोन कैटेगरी में अपनी सफलता को फिर से दोहरा पाएंगे।

सैमसंग का शेयर बढ़ा

एक नेशनल स्मार्टफोन रिटेलर ने कहा कि चीन विरोधी भावनाएं से लोकल ब्रांड्स को मदद मिलेगी। लोग वास्तव में चीनी स्मार्टफोन खरीदने से बच रहे हैं। इतने महीनों में पहली बार सैमसंग के लिए मेरा स्मार्टफोन शेयर वीवो और अन्य चीनी कंपनियों की तुलना में काफी हद तक बढ़ गया है।

सस्ते विकल्प में चीनी फोन आगे

हालांकि, खुदरा विक्रेता ने कहा कि चीनी ब्रांड अभी किसी भी परेशानी से दूर हैं, क्योंकि कस्टमर उनसे दूर जाने की कोशिश करते हैं, तो उनके विकल्प अभी बहुत सीमित हो जाते हैं। सैमसंग और मोटोरोला ऐसे ऑप्शन है जो आमतौर पर चीनी स्मार्टफोन की तुलना में अधिक कीमत के फोन हैं। ऐसे में भारतीय ब्रांड की एंट्री चीनी कंपनियों को कॉम्पटिशन दे सकती है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *